Chairman Message
कुलसचिव संदेश
 
हिन्दी विद्यापीठ हरिद्वार मे आपका स्वागत है। हिन्दी विद्यापीठ हरिद्वार एक अर्न्तराष्टीय हिन्दी प्रचार-प्रसार एवं अनुसंधान संस्थान है। जिसकी नीव सन् 1930 में महात्मागांधी के मार्गदर्शन मे स्वर्गिय श्री सुरजन सिंह के द्वारा रखी गई तथा मुख्य उदेशय हिन्दी को राष्ट्र भाषा बनाना तय किया गया, सभी देश वासियो के सहयोग से 14/09/1949 को संविधान सभा ने हिन्दी को संध भारत की राजभाषा स्वीकार किया। इस दिंन को अब हम प्रतिवर्ष हिन्दी दिवस के रुप मे मनाते है। हिन्दी विद्यापीठ का मुख्य उदेश्य हिन्दी को राष्ट्रभाषा बनाना है। आईये हम सब मिल कर इसमें अपना महत्वपूर्ण योगदान दें ।मै हिन्दी विद्यापीठ मे आपका पूनःस्वागत करता हुँ ।
 
 
 
 
 
Curve Curve
  Welcome Hindi Vidyapeeth, Haridwar -- Free open and distance education for all  

About Hindi Vidyapeeth Haridwar

एक अखिल भारतीय एवं वैश्विक भाषा के रूप में हिंदी का विकास और प्रचार (संविधान के अनुच्छेद 351 के अनुसार) बहुस्तर पर हिंदी भाषा शिक्षण, भाषा एवं साहित्यपरक शोध, तुलनात्मक भाषा विज्ञान, शिक्षकों का शिक्षण, विभिन्न स्तर का पाठ्यक्रम निर्माण एवं विभिन्न स्तर की परीक्षाओं का आयोजन करना । महात्मा गांधी के सपनों के भारत में एक सपना राष्ट्रभाषा के रूप में हिंदी को प्रतिष्ठित करने का भी था। उन्होंने कहा था कि राष्ट्रभाषा के बिना कोई भी राष्ट्र गूँगा हो जाता है। नागपुर में आयोजित प्रथम विश्व हिंदी सम्मेलन (10-14 जनवरी,1975) में यह प्रस्ताव पारित किया गया था कि संयुक्त राष्ट्रसंघ में हिंदी को आधिकारिक भाषा के रूप में स्थान दिया जाए । अगस्त,1976 में मॉरीशस में आयोजित द्वितीय विश्व हिंदी सम्मेलन में यह तय किया गया कि मॉरीशस में एक विश्व हिंदी केंद्र की स्थापना की जाए जो सारे विश्व में हिंदी की गतिविधियों का समन्वय कर सके।इस विद्यापीठ को उच्च शिक्षा के एक अंतरराष्ट्रीय मंच के रूप में विकसित किया जा रहा है। हिंदी भाषा में भारतीय मूल्यों व परंपराओं के संवर्द्धन के साथ-साथ आधुनिक वैज्ञानिक दृष्टिकोण विकसित करने तथा इसे इसी रूप में दुनिया के सामने स्थापित करने का अभियान विद्यापीठ द्वारा चलाया जा रहा है। 
 
 

Hindi Vidyapeeth Haridwar Team

 
 
 
 
    सूचना पट्ट  
   
 M.Sc. (Prev.) Micro Biology Exam Result 2013

 B.A. Part-I Distance Education

 
 
Shadow
 
Videos

Right to Education becomes a law in india

  Right To Free Education Act In India   Education now a fundamental right
 
  All Rights Reserved to Hindi Vidyapeeth, Haridwar